Monday, June 29, 2015

बड़े भैया

उंगली मेरी थमा कर तुमको...
पूरा विश्वास दिखाया हैं........
भैया पापा ने तुमको...मेरा भार...
संभलवाया हैं....
तुमने भी भैया ..माँ पापा का ..
अच्छा फर्ज़ निभाया हैं......
लगाकर हम सबको सीने से.....
पापा माँ का एहसास कराया हैं...
साया तेरा बना रहे हम सब पे...
मैने ईश्वर से बाँह पकड़ कर..ये इसरार कराया हैं...तंकु...भैया


1 Comments:

At June 29, 2015 at 11:37 PM , Anonymous Anonymous said...

bhaiya ka saya sar pr hmesha bna rhe .....ameen

 

Post a Comment

Subscribe to Post Comments [Atom]

Links to this post:

Create a Link

<< Home