Tuesday, March 13, 2018

तज़ुर्बा

मेरी खामोशी
बात करती है
मुझसे
याद दिलाती है
तज़ुर्बे जिंदगी
धोखे अपनों के
सीख वक़्त से

0 Comments:

Post a Comment

Subscribe to Post Comments [Atom]

Links to this post:

Create a Link

<< Home