Tuesday, May 29, 2018

लघु कथा परीक्षाफल

आज सुबह से ही ममता का दिल बहुत उदास था उसे रह रह के मानसी के पापा की याद आ रही थी आज से 13 साल पहले ममता के पति की एक्सीडेंट में मौत हो गई थी तबसे मानसी बिटिया को वो ही पालती आयी है अपनी कड़ी मेहनत से
आज बिटिया का दसवी का रिजल्ट आना था जिसमे मानसी ही नही ममता को भी अच्छे नम्बरों से पास होना था यही कारण था कि ममता का दिल डर से बैठा जा रहा था ।तभी मानसी के पड़ोस से एक लड़का दौड़ता हुआ आया और बोला दीदी मानसी  बिटिया अच्छे नम्बरों से पास ही नही हुई जिले मे भी प्रथम आयी है ये सुनते ही ममता को खुशी के मारे चक्कर आने लगा और वो बेहोश हो गई आंख खुली तो सब चारो ओर से उसे बधाई दे रहे थे कुछ पत्रकार बिटिया का इंटरव्यू भी ले रहे थे। आज ममता को लगा मेहनत कभी बेकार नही जाती आज मानसी नही, वो टॉप की है जिले में।

0 Comments:

Post a Comment

Subscribe to Post Comments [Atom]

Links to this post:

Create a Link

<< Home