Wednesday, November 16, 2011

हमारा मन नहीं रहता , हमारे पास



जब मैं 

तुम्हारे साथ होती हूँ

खुद को सारी दुनिया से

खाली कर लेती हूँ

नही रखती मन मे 

कोई गुबार....

फैला होता बस 

चारो तरफ 

प्यार ही प्यार..

तुम्हारी प्यारी बातें

मन को गुदगुदाती हैं

जब छेड़ देते हो

मन की तरंगे

मन कही खो 

सा जाता हैं

जैसे खुलने के बाद 

उन(वूल) का गोला 

उलझ जाता हैं 

और बड़ी मुश्किल से 

हाथ आता हैं 

ऐसे ही हमारा मन . .

नही रहता....हमारे पास

तुम्हारे पास

सरक जाता हैं

  • You, Kiran AryaChitra RathoreAameen Khan and 16 others like this.

    • Suman Mishra sambhaaliye......man ko.....saagar ki athaah lahrein....man ko kaheen apnee tarangon main baha naa le jaayem
      October 25 at 6:27pm ·  ·  4

    • Nirmal Paneri कुछ पूर्ण होता है कुछ अधुरा सा रहा जाता है वही कही खोने का अहसास ...इंसानी दायित्व के होते हुए भी उसको स्वामीत्व कही नष्ट होता लगता है वही इंसानी मन खोने की कशमकश है शायद ...पर इस पर विजय ही इन्सान को महान बनजाती है कही !!!!!!!!!शायद !!!!!!!!!!!!!!!!!
      October 25 at 6:33pm ·  ·  2

    • Alam Khursheed वाआआआआह !
      अच्छा है अपर्णा जी !

      October 25 at 6:41pm · 

    • Om Prakash Nautiyal ‎*
      "..जैसे खुलने के बाद
      ऊन का गोला
      उलझ जाता हैं
      और बड़ी मुश्किल से
      हाथ आता हैं .."
      वाह ! बहुत सुन्दर !! शुभ दीपावली !!!!
      *

      October 25 at 7:45pm · 

    • Parveen Kathuria aapka man bhi kamaal ka hai.....ise kaho punjab ki gaadi bhi pakde..)))
      October 25 at 9:16pm · 

    • Rajiv Jayaswal Mann ko manao , Aparna ji.
      October 25 at 9:22pm ·  ·  1

    • Vishaal Charchchit BAHUT KHOOB.................BHARI BHARKAM (PYAR SE BHARAA HUA) MANN.............APNE AAP SARAK JAATA HAI US TARAF..................BHAI WAAH !!!
      October 25 at 10:30pm · 

    • Aparna Khare kya kare vishall ji Dil hi to hai..
      October 25 at 10:49pm ·  ·  1

    • Aparna Khare Thanks Rajiv ji..aj se koshish karte hain
      October 25 at 10:49pm · 

    • Aparna Khare Alam ji Shukriya
      October 25 at 10:49pm · 

    • Aparna Khare Om Prakash Nautiyal ji apko bhi baht baht mubarak
      October 25 at 10:50pm · 

    • Aparna Khare Suman Mishra....mann pe kabu hain mera..china na karo
      October 25 at 10:50pm · 

    • Aparna Khare Thanks Nirmal ji
      October 25 at 10:51pm · 

    • Kamal Kumar Nagal wah...true this ..
      October 26 at 12:40am ·  ·  1

    • Gopal Krishna Shukla वाह बहुत खूब अपर्णा जी....
      October 26 at 12:57am ·  ·  1

    • Naresh Matia bahut khoob....bahut badhiya...
      October 26 at 2:35am ·  ·  1

    • Shamim Farooqui Waah...khoob
      October 26 at 9:23pm ·  ·  1

    • Divine Love · Friends with Mutha Rakesh and 4 others
      shooting straight from the heart ...good
      October 26 at 11:24pm ·  ·  1

    • Manjula Saxena bahut sunder bhav aiwam shabd aparna ...
      October 26 at 11:32pm ·  ·  1

    • Manjula Saxena समझता नहीं यह नादाँ
      नन्ही सी जान
      तुम्हारे होने, न होने का फर्क
      हर दम रहता संग तुम्हारे
      भूल दुनिया के नज़ारे
      जो भी हो , मानता है तुम्हे ख़ास
      हमारा मन नहीं रहता , हमारे पास

      October 26 at 11:32pm ·  ·  4

    • Maya Mrig कुछ चीजें उलझ कर ही सुलझती हैं....उलझती जाएंगी जितना....सुलझती जाएंगी उतना....मन का क्‍या....
      October 27 at 9:49pm ·  ·  2

    • MAN CHANCHAL HOTA HAI. FIR V..........
      October 31 at 1:58pm ·  ·  1

    • Kiran Arya man aisa hi hai mitr.............
      October 31 at 3:52pm ·  ·  1

0 Comments:

Post a Comment

Subscribe to Post Comments [Atom]

Links to this post:

Create a Link

<< Home