Saturday, May 12, 2012

नही करते चाँदनी से शिकायत
ना ही धूप मे निकलते हैं
ए हुस्न तेरी ही हिफ़ाज़त
हम दिलोजान से करते हैं

0 Comments:

Post a Comment

Subscribe to Post Comments [Atom]

Links to this post:

Create a Link

<< Home