Thursday, June 28, 2012

सफेद फूल



मैने उनसे पूछा तुम्हे कौन सा रंग पसंद हैं
बोले मुझे कफ़न का रंग पसंद हैं
मैने कहा देखो तुम्हारा दिमाग़ कितना खुला हैं
तुम्हे हर वक़्त मौत याद हैं....
जो की कितना मुश्किल काम हैं
जिसे हर वक़्त मौत याद होगी वो
जिंदगी मे कभी बुरा काम कर नही सकता हैं
जीवन मे कभी किसी का दिल दुखा नही सकता हैं
विनम्रता का होता वो पुतला हैं
वैराग्य का जीवन उसने जी भर के जिया हैं
सफेद रंग चाहे किसी का भी हो...
फूल का या कफ़न का
वैराग्य और शांति से भर देता हैं
दुनिया का कोई बाहरी आडंबर उसे
विचलित नही कर सकता हैं
प्यार हैं अगर कफ़न से तो मत घबराव
खुशिया मनाओ तुम परमात्मा के और
परमात्मा तुम्हारे करीब हैं
परमात्मा को तुमसे प्रीत हैं....

0 Comments:

Post a Comment

Subscribe to Post Comments [Atom]

Links to this post:

Create a Link

<< Home