Friday, February 22, 2013






जो अकेले होते हैं
उन्हे हर हालात से लड़ना 
आ जाता हैं 
कर लेते हैं वो सामना 
हर परिस्थिति का..

नही खोजते रास्ता 
भागने का ..
हमारी तुम्हारी तरह...
हमे / तुम्हे तो हर वक़्त एक 
कंधा चाहिए होता हैं
सहानुभूति का....
वो निडर , बेखौफ़ 
हम खुद से ही डरे हुए...
दुनिया से सहमे हुए...

0 Comments:

Post a Comment

Subscribe to Post Comments [Atom]

Links to this post:

Create a Link

<< Home