Thursday, May 2, 2013

बड़े दादा की पुण्य तिथि पे विशेष - 29th April 2013

जो कहा वो करके दिखलाया
दादा हमने आपको अपना आदर्श बनाया

जीवन भर रहे अमीरों की तरह
शौकीनी मे कोई आपका पार ना पाया
लेकिन जब जीवन मे उतार चढ़ाव आया
भूल गये सब अमीरी जीवन गुरु अनुसार बनाया

वैराग्य मे नही था कोई आपके बराबर
फटी चादर से भी कमीज़ का काम चलाया
दादा अपने तो कमाल कर दिखलाया

जब भी देखी कोई दुखी स्त्री
खुद को भी स्त्री रूप बनाया
करने को उद्धार हम सबका
बाइबिल गीता का ज्ञान हमे सरल कर बताया

दिया हम सबको गीता भगवान
जैसा अनमोल हीरा...
उनके भीतर भी ज्ञान ठहराया
जो रह गया आपसे काम अधूरा
गीता भगवान ने आगी बढ़ाया

सात कड़ियो की माला के रूप मे
हमे प्यारे प्यारे ब्रह्म ज्ञानी दिए
जिन्होने हर कदम पे हमारा साथ निभाया
नही रहने दिया हमे कभी भी अकेला
हर दुख मे हमे गले से लगाया

बहुत एहसान हैं दादा आपके
हम सब पे...हम भी करे आपका कार्य
मन ही मन हमने यही निश्चय दोहराया..


0 Comments:

Post a Comment

Subscribe to Post Comments [Atom]

Links to this post:

Create a Link

<< Home