Friday, June 17, 2011

माँ का रिश्ता कितना प्यारा


माँ का रिश्ता कितना प्यारा
भर देता जीवन मे रंग सारा
माँ होती हैं तो सब रंग होते हैं
माँ के बिना बेनूर हम होते हैं
माँ संवेदना हैं, माँ हमारी परछाई हैं
माँ जलते हुए रेगिस्तान मे
ठंडे पानी की जलधारा है
माँ ने हमारे लिए ही तो
अपना  सारा जीवन वारा हैं
खुद गीले मे रात भर सोकर
सूखे मे हमे सुलाया हैं
दुनिया की आँधी से माँ
तूने ही तो हमे बचाया हैं
माँ तू क्या नही हैं
माँ हैं तो खूबसूरत जमी हैं
वरना चारो और 
अंधेरा ही अंधेरा छाया हैं
इस अंधेरी दुनिया मे माँ 
तू रोशनी का साया हैं
माँ तुझे शत शत
प्रणाम करते हैं
तेरे लिए अपना सब कुछ
कुर्बान करते हैं
सब कुछ कुर्बान करते हैं
    • Manoj Kumar Bhattoa very great lines....maa is maa as a GOD
      May 25 at 2:24pm ·  ·  2 people
    • Jogendra Singh जोगेंद्र सिंह ▬● माँ का जवाब नहीं...........
      ● http://web-acu.com/
      May 25 at 2:24pm ·  ·  6 people
    • Aparna Khare Thanks Manoj Kumar Bhattoa
      May 25 at 2:29pm ·  ·  1 person
    • Prateek Shesh राम लिखा रहमान लिखा इसा रब सतनाम लिखा,
      होड़ लगी जब सारी दुनिया एक लफ्ज में लिखने की,
      सबने सारी दुनिया लिख डाली मैंने माँ का नाम लिखा ..........अज्ञात ,
      May 25 at 2:30pm ·  ·  3 people
    • Aparna Khare Thanks Jogi ji...
      May 25 at 2:31pm ·  ·  2 people
    • Aparna Khare Prateek Shesh maa ka darja sabse uncha...
      May 25 at 2:31pm ·  ·  1 person
    • Niranjana K Thakur gr8888888 !
      May 25 at 2:38pm · 
    • Manoj Gupta 
      माँ क्या है?
      एक शब्द
      एक भाव
      एक खुश्बू
      एक ध्वनि
      एक दृश्य !
      क्या है माँ .....?

      जब पैदा हुआ तो
      स्पर्श से पहचानता था
      दो माह का हुआ तो
      आहट से जानता था
      पहले छः माह दूध जैसी लगती थी
      बाद में उसे रोटी से जान लेता था
      महक जो उठती थी रसोई से,घर के चौरे से,
      उसे नथुनों में भर के पहचान लेता था
      बस एक माँ ही है स्वर्ग दुनिया में
      जब-जब आँख खोली मै जान लेता था
      May 25 at 3:04pm ·  ·  2 people
    • Manoj Gupta माँ मैं तुझको क्या लिखूँ, सब तुझसे साकार
      जब-जब तू आशीष दे, तब-तब हो त्यौहार
      May 25 at 3:05pm ·  ·  1 person
    • Manoj Gupta 
      ईश्वर का वरदान है माँ
      हम बच्चों की जान है माँ
      मेरी नींदों का सपना माँ
      तुम बिन कौन है अपना माँ
      तुमसे सीखा पढ़ना माँ
      ...See More
      May 25 at 3:05pm ·  ·  2 people
    • Manoj Gupta ख़ुद तपी मुझको मगर ऑंचल की छाया में रखा
      सब अभावों को छिपा भावों की माया में रखा
      माँ तेरा संघर्ष मेरी अर्चना का पात्र है
      धन्य तू नौ मास मुझको अपनी काया में रखा
      May 25 at 3:16pm ·  ·  2 people
    • Sonroopa Vishal जिसका कहीं न आर है जिसका कहीं न पार ,उस सागर का नाम है माँ के मन का प्यार ......................
      May 25 at 3:31pm ·  ·  3 people
    • Ashish Khedikar No Words..... Gratitue....
      May 25 at 4:05pm ·  ·  1 person
    • Naresh Matia माँ तुझे शत शत प्रणाम करते हैं
      तेरे लिए अपना सब कुछ कुर्बान करते हैं................bahut khoob..........bahut badhiya
      May 25 at 5:36pm ·  ·  1 person
    • Aparna Khare Thanks Naresh Matia ji...
      May 25 at 6:00pm · 
    • Aparna Khare THanks Ashish ji..
      May 25 at 6:01pm · 
    • Aparna Khare thanks Sonroopa Vishal ji...sach hai ye
      May 25 at 6:01pm · 
    • Aparna Khare Lots of Thanks Manoj ji....
      May 25 at 6:01pm ·  ·  1 person
    • Aparna Khare thanks Niranjana K Thakur ji
      May 25 at 6:02pm · 
    • Alam Khursheed दुनिया के तमाम रिश्तों में सबसे महान रिश्ते
      को मेरा भी प्रणाम अपर्णा जी!
      May 25 at 10:44pm ·  ·  1 person
    • Meenu Kathuria सही कहा अपर्णा जी ........माँ की ममता एक अनोखी ममता है ..........बच्चो के दुःख सहकर अपने बच्चो को सुख देती है .........खुद गीले मे रात भर सोकर
      सूखे मे हमे सुलाती हैं........
      May 25 at 11:13pm ·  ·  3 people
    • Kump Singh बहुत बढ़िया....................
      माँ मे वो जादू भी है खाना न होने पर फरेब खिलाकर सुला सकती है
      May 26 at 10:52am ·  ·  2 people
    • Kiran Arya Maa maatr ek shabd nai hai yaara, maa to hai sampurn jeevan hamara...........:))
      May 26 at 3:37pm ·  ·  1 person
    • Parveen Kathuria sakth raston mein bhi aasan safar lagta hai,
      ye mujhe maa ki duaon ka asar lagta hai,
      ek muddat se meri maa nahi soyi jab...
      maine ek baar kaha tha....maa mujhe dar lagta hai.....
      May 26 at 10:01pm ·  ·  1 person

0 Comments:

Post a Comment

Subscribe to Post Comments [Atom]

Links to this post:

Create a Link

<< Home