Saturday, July 16, 2011

रूह को सुकून आ गया-

वेदनाओं के ताबूत में
आखिरी कील जो
लगायी तुमने

रूह को सुकून आ गया-




रूह को सुकून आ गया-
मुझे भी करार आ गया
मर सकूँगा चैन से मैं
इतना तो दिल को 
दिल पे एतबार आ गया

0 Comments:

Post a Comment

Subscribe to Post Comments [Atom]

Links to this post:

Create a Link

<< Home