Wednesday, January 30, 2013

वादा तो निभाना होगा.......



किया हैं वादा तो निभाना होगा.......
जनम जनम तुम्हे यहाँ आना होगा

मेरी चाहत मे तुम ऐसे खोए...
नज़र ना आए तुम्हे कोय
सब तरफ दिखे ऐसा उजाला
जैसे चाँद हो पूरणमासी वाला..

माया तो छल हैं,, प्रपंच हैं
तू माया से उपर माया का सरपंच हैं..(माया को भी देखने वाला)

इंसान इंसान की बात हैं ये..
जब अपना टकराए तो टूट जाए
बेगाना टकराए तो वो मुस्कुराए..

उदास शहर, बेगाने लोग,
भीगी शाम, सिसकते पेड़
सब तुम्हारी याद दिलाते हैं
अकेले मे तुम और ज़्यादा
याद आते हो..बार बार.....
हज़ार बार कसम से..

पत्थर पिघला तो मोम हो जाएगा
हाल जो उसने पूछा तुम्हारा तो..
वो भी खुशहाल ना रह पाएगा..

नींद को गिरवी रख तुमने
जो धन कमाया हैं
खरीद लो उस से सुख चैन
शायद वो ही तेरे ...काम आ जाए..



0 Comments:

Post a Comment

Subscribe to Post Comments [Atom]

Links to this post:

Create a Link

<< Home