Wednesday, May 8, 2013

वहाँ फरिश्ते बसा करते हैं..

जिस प्रेम मे रिश्ते नही होते..
वहाँ फरिश्ते बसा करते हैं..
उतर जाते हैं वो हमारी रूह मे..
प्यार से हमारे दिल मे बसते हैं..
निस्वार्थ होता हैं उनका प्यार
नही माँगते बदले मे कुछ भी
उडेल देते हैं हम पे वो अपना
सारा लाड दुलार...
जी भर के हमे प्यार करते हैं
जिस प्रेम मे रिश्ते नही होते
वहाँ फरिश्ते बसते हैं..

0 Comments:

Post a Comment

Subscribe to Post Comments [Atom]

Links to this post:

Create a Link

<< Home