Wednesday, November 20, 2013

बनारस कभी बदल नही सकता

यह जो बनारस है 
कभी बूढ़ा हो नही सकता  
ये साक्षी हैं हमारे इतिहास का.. 
ये धूमिल हो नही सकता 
ये जर्जर इमारते आज भी  
उसकी कला की याद दिलाती हैं.  
गीत, संगीत, कथक  
तबले बाँसुरी जैसे घराने की  
ओर ले जाती हैं  
बनारस कभी बदल नही सकता  

0 Comments:

Post a Comment

Subscribe to Post Comments [Atom]

Links to this post:

Create a Link

<< Home