Thursday, November 7, 2013

मनुहार

ओ प्यारी दी 
आओ न
अब नहीं लगता दिल 

तुम्हारे बिना
सब जग 

सूना लगता हैं
हर पल 

तुम्हारे बिना खलता हैं
इंतज़ार में तुम्हारे
अब हमसे समय 

नहीं कटता हैं
आ  भी जाओ अब
दिल हमारा बार बार
आप पे ही जा 

अटकता हैं

0 Comments:

Post a Comment

Subscribe to Post Comments [Atom]

Links to this post:

Create a Link

<< Home