Saturday, June 18, 2011

kaise banti hai rachnaiye??


mere mitra Ubhaan Ji dwara 
उन हदों को छू आया हूँ
जहाँ आसमान बाकी था
वह गिरता कैसे
अभी नीचे मैं खड़ा था

answered by Satish sharma ji....
बुधू नहीं है आसमान
सब समझता है.
अगर गिरना ही है तो
सीधे जमीन पर गिरेंगे
इन बिचोलियों के हाथ
आखिर क्यों पड़ेंगे
इस लिए जब तक
एक पेड़ भी जमीन पर खड़ा है
तब तक आसमान भी अपनी
जगह पर वहीँ अड़ा है
क्यों की बुधू नहीं है
आसमान सब समझता है

answer by me.....
गर बुद्धू नही है आसमान
तो एक जगह पे क्यूँ खड़ा है..
आए उतर के जमी पे
देखे क क्या मज़ा है..
धरती क प्राणी कैसे?
धरती की दुनिया कैसी.?
कैसी अल्मस्त है ये दुनिया
उसको नही पता है

0 Comments:

Post a Comment

Subscribe to Post Comments [Atom]

Links to this post:

Create a Link

<< Home