Saturday, July 2, 2011

किस्मत का लेखा जोखा है


सब किस्मत का 
लेखा जोखा है
किसी को मिला प्यार,
किसी को धोखा है
जिसका जितना संयोग 
होगा वो उतना ही पाएगा
बाकी के लिए 
सिर्फ़ ललचाएगा
छोड़ दे सब किस्मत पे
क्यूँ हर समय 
तू रोता है
सब किस्मत का 
लेखा जोखा  है
किसी को मिला प्यार, 
किसी को मिला धोखा है
तेरे ही पिछले 
करमो का योग होता है
जो तुझे इस जनम मे 
प्राप्त होता है
ये फल कभी दुख 
कभी सुख होता है
तुझे वो ही सब मिला है
जो तू  बोता है
तू क्यूँ बार बार 
दुखी सुखी होता है
सब किस्मत का 
लेखा जोखा है...
किसी  को मिला प्यार, 
किसी को मिला धोखा है....












0 Comments:

Post a Comment

Subscribe to Post Comments [Atom]

Links to this post:

Create a Link

<< Home