Tuesday, July 5, 2011

मेरा कसूर




अपने जख़्मो की 
बात करते हो
कहते हो की वो
भरते नही हैं
मेरा कसूर क्या हैं
गम तुमने ही दिए हैं
जो मेरे दिल मे 
पलते हैं....
खूबसूरत सा 
दिल था हमारा
जो तुमने प्यार से
तोड़ दिया
अपने ही हाथो उसे
ठोकर खाने को
सरे राह हमे 
छोड़ दिया
अब इल्ज़ाम भी 
मेरे सर पे ही 
छोड़ दिया
एक बार तो बता दो
खता क्या हैं मेरी
मंज़िल भी तुम्हारी थी
रास्ता भी तुम्हारा
दस्तूरे वफ़ा ने 
हमे मार ही डाला
अब कहाँ मिलेगा
रास्ता !!!!!!!

    • Prateek Shesh ये किस मकतब में खड़ा कर दिया इल्जाम लगा कर मुझ पर
      बेवफाई करके खुद मुनसिब और मुजरिम मुझे बना दिया मुझको ...प्रतीक शेष
      July 5 at 4:38pm ·  ·  2 people
    • Aparna Khare bahut khoob mere dost...ilzaam maine nahi tumne lagaya hain...waqt tumne hi aisa laya hain
      July 5 at 4:39pm · 
    • Niranjana K Thakur wah bahut khubsurat Aparna ji
      दिल का दर्द दिल तोड़ने वाले क्या जाने!
      प्यार के रिवाजों को ज़माना क्या जाने!
      July 5 at 4:41pm ·  ·  5 people
    • Aparna Khare mujhe iska gam nahi hain ki badal raha jamana....meri jindagi ke malik kahi tum badal na jana....
      July 5 at 4:42pm ·  ·  1 person
    • Prateek Shesh ये किस बदल की बात कर रही हो अपर्णा
      वक़्त की किसी बदल में मै नहीं बदला ...प्रतीक शेष
      July 5 at 4:42pm ·  ·  2 people
    • Aparna Khare jamane se poochte to pyar kaha kar pate...kewal jee jalana janta hain jamana
      July 5 at 4:43pm · 
    • Kamal Kumar Nagal GAZAB KI RACHNA ..KYA SABDO SE SAJAYA HA...VERY VERY NICE ..APARNA JI
      July 5 at 4:50pm ·  ·  1 person
    • Aparna Khare thanks Kamal ji
      July 5 at 4:51pm ·  ·  1 person
    • Kiran Arya ‎//Bin bataye vo kasur hamara chal diye hath jhatak ke hamara, ham sochte rah gaye khade kunche me unke, kya ab kabhi milega is dil ko koi kinara//..............Kiran Arya
      July 5 at 4:56pm ·  ·  4 people
    • Kiran Arya Bahut sateek rachna hai Aparna dost aaj ke samay ki sachchai ko darshati..............
      July 5 at 4:56pm ·  ·  4 people
    • Aparna Khare thanks Dear...
      July 5 at 4:57pm ·  ·  3 people
    • Kiran Arya Thx kahne ki jarurat hai kya dear?????????????
      July 5 at 4:59pm ·  ·  1 person
    • Manoj Kumar Bhattoa wah ! kiya baat hai...
      July 5 at 5:06pm ·  ·  1 person
    • Maya Mrig मंज़िल भी तुम्हारी थी
      रास्ता भी तुम्हारा
      मंजिल कुछ भी हो...किसी की भी, कहीं भी या कि कहीं भी ना हो....रास्‍ते अपने होते तो सब अपना ही होता....
      July 5 at 5:11pm ·  ·  2 people
    • Aparna Khare thanks sir....sach kaha apne....raste to banane padte hain....
      July 5 at 5:11pm ·  ·  1 person
    • Aameen Khan bahut khuubsurat kavita...... Dar dar ki thokaro, itana muze bata do mera kusuur kya hai...... i just remembered this song from a old film, after reading ur poem.
      July 5 at 5:22pm ·  ·  2 people
    • Aparna Khare thanks Aameen ji..
      July 5 at 5:23pm · 
    • Om Prakash Nautiyal ‎*
      "...मंज़िल भी तुम्हारी थी
      रास्ता भी तुम्हारा...."
      एक भावपूर्ण और संजीदा रचना ।बहुत सुन्दर Aparna Khare जी !!!
      *
      July 5 at 5:24pm ·  ·  1 person
    • Reenu Gupta BAHUT SUNADAR HAI....................
      July 5 at 5:42pm ·  ·  1 person
    • Reenu Gupta मंज़िल भी तुम्हारी थी

      रास्ता भी तुम्हारा
      July 5 at 5:42pm ·  ·  1 person
    • Naresh Matia bahut badhiya.......
      एक बार तो बता दो
      खता क्या हैं मेरी
      मंज़िल भी तुम्हारी थी
      रास्ता भी तुम्हारा.............bahut​ khoob
      ..........par pahle apne se bhi puchhna padta hain ki.....aakhir isa kyu hua...kya mera bhi koi kasur to nahi isme.........
      July 5 at 6:12pm ·  ·  3 people
    • Ashish Khedikar Sundar Rachana Aparna ji....
      July 5 at 6:36pm · 
    • Jogendra Singh जोगेंद्र सिंह 
      ▬●
      जो दिया तुमने दिया ,
      जो लिया तुमने लिया ,
      किस बात का है अफ़सोस ,
      आया था जो जहाँ से ,
      वहीं को फिर लौट गया... _____ जोगेन्द्र सिंह (०५-०७-२०११)

      (my business site ☞ Su-j Helth ☞ http://web-acu.com/ )
      July 5 at 6:57pm ·  ·  3 people
    • Alam Khursheed बहुत ख़ूब अपर्णा जी !
      आप के लिए एक शेर :
      __________________________
      सफ़र में लोग तो मिलते बिछड़ते रहते हैं
      ज़रा सी बात पर आँखें मला नहीं करते !!
      July 5 at 9:38pm ·  ·  1 person
    • Meenu Kathuria mera dil toota ......tukde bikhar gye......kuch idhar gye kuch udhar gye........har tukde par tera hi name tha......tune aisa kyo kiya har tukda yahi puch rha tha.......
      July 5 at 10:26pm ·  ·  4 people
    • Parveen Kathuria khoobsurat ati sunder...
      July 5 at 10:37pm ·  ·  2 people
    • Rajiv Jayaswal तेरा कसूर
      तूने वफ़ा ना की
      तेरा कसूर
      मुझ से
      तूने जफ़ा ही की |
      July 5 at 11:14pm · 
    • Rajiv Jayaswal तेरा कसूर
      तूने वफ़ा ना की
      तेरा कसूर
      मुझ से
      तूने जफ़ा ही की |
      July 5 at 11:15pm ·  ·  1 person
    • Manoj Gupta कसूर ना उनका हैं ना मेरा !
      हम दोनों ही रिश्तों की रस्में निभाते रहे !!
      वो दोस्ती का एहसास जताते रहे !
      हम मोहब्बत को दिल में छुपाते रहे !!
      July 6 at 9:03am ·  ·  2 people
    • Rajani Bhardwaj मंज़िल भी तुम्हारी थी
      रास्ता भी तुम्हारा.............. behtreen h
      July 7 at 8:20pm ·  ·  1 person


0 Comments:

Post a Comment

Subscribe to Post Comments [Atom]

Links to this post:

Create a Link

<< Home