Saturday, October 1, 2011



मोबाइल की तरह जल्दी बज - बजा जाइये
उनके दिल में एसएमएस बनके छा जाइए
वर्ना एक दिन वे नॉट रीचेबल हो जायेंगे फिर
ज़िन्दगी भर को स्विच्ड ऑफ हो जाइए.....


जिंदगी भर को स्विच ऑफ की स्कीम अभी नही आई हैं
हाँ लाइफ टाइम की स्कीम ज़रूर सुनी हैं हमने
विशाल जी आप ना घबराए...एस एम एस भले बन जाए
दुनिया को हसाए, खुद भी हँसे...परेशानी को भगाए
तरकीब ज़रा पुरानी हैं..लेकिन कारगर हैं..इसे अपनाए
वक़्त पे छोड़ दे सब कुछ....फूलो की तरह खिलखिलाए



वैसे भी आप हमसे कहाँ रूठ पाएँगे
हम तो आँखो से दिल मे उतर जाएँगे...
खोजते रहेंगे आप दुनिया मे हमे 
हम आपके दिल मे मुस्कुराएँगे..अपर्णा



कृष्ण बन  ना सही
इंसान बन आ जाना
कोई तो आ कर
इनकी लाज़ बचा जाना
तार तार होती इनकी 
मानसिकता को कुछ 
राह दिखा जाना...
कोई तो आ जाना








0 Comments:

Post a Comment

Subscribe to Post Comments [Atom]

Links to this post:

Create a Link

<< Home