Monday, May 13, 2013

बुद्दु



खामोश रहो तो दुनिया समझती हैं बुद्दु
कुछ कहकर इन्हे अपने होने का एहसास दिला दो



0 Comments:

Post a Comment

Subscribe to Post Comments [Atom]

Links to this post:

Create a Link

<< Home