Tuesday, August 11, 2015

सपन सलोना


सुन्दर सा एक 
सपना सलोना
आँखों में पलता देखा है
लेता है आकार 
वो धीरे से
समय के साथ 
साकार होते देखा है
सपने की 
एक सोच ही 
होंठो पे 
मुस्कान ले आती है
जाने 
पूरा होने की 
उम्मीद ही
इंसा को 
खुश कर जाती है
सपनो सपनो में 
कटती जाती है उम्र
मन फिर भी 
थम कर चलता है
कैसा है ये 
खवाब सजीला
पल पल बढ़ता रहता है
ख़ुशी खवाब की 
छिपाये न छिपती
जैसे जैसे बढ़ता है
आँखों में 
एक खवाब 
सजीला 
पल पल 
सजते देखा है

2 Comments:

At August 16, 2015 at 8:22 PM , Blogger Nitish Tiwary said...

किसी के लिए सपना देखना,किसी का बेसब्री से इंतज़ार करना अपने आप मे एक सुखद एहसास है.
मेरे ब्लॉग पर आपका स्वागत है.
iwillrocknow.blogspot.com

 
At October 9, 2015 at 4:17 AM , Blogger Aparna Khare said...

Shukriya Nitish Tiwary ji...sach sapna hi hota hain apna

 

Post a Comment

Subscribe to Post Comments [Atom]

Links to this post:

Create a Link

<< Home