Tuesday, July 12, 2011

अन्न जहाँ का ख़ाता हैं

अन्न जहाँ का ख़ाता हैं
मनुष्य वही की गाता हैं

माँ बाप भी दुनिया मे
जिस बेटे का अन्न खाते हैं
उसके जैसे बन जाते हैं
देख कर बेटे के अवगुण भी
विरोध नही कर पाते हैं

भीष्म पितामह को देखे
सच को जान कर भी
स्वीकार नही कर पाते हैं
अन्न जहा का खाते हैं
हम वही का गाते हैं

मॅन मे एक विचार करे
हम भगवान का खाते हैं
अपने हिस्से का खाते हैं
अपने हिस्से का पाते हैं

करे भरोसा प्रारब्ध पर
भगवान के बन जाए हम
करे जीवन को पक्षपात रहित
मॅन मे शांति पाए हम

क्यूँ डरते हैं
क्यूँ मरते हैं
निडर होकर निवास करे
जीवन कर दे प्रभु पे अर्पण
भगवान पे विश्वास करे...



    • Kamal Kumar Nagal KAB AANNA HA APARNA JI KHANNA KHANE...HA HA HA
      Tuesday at 1:04pm ·  ·  1 person
    • Manoj Kumar Bhattoa its true....
      Tuesday at 1:06pm ·  ·  1 person
    • Aparna Khare thanks Manoj ji
      Tuesday at 1:08pm · 
    • Kiran Arya क्यूँ डरते हैं
      क्यूँ मरते हैं
      निडर होकर निवास करे
      जीवन कर दे प्रभु पे अर्पण
      भगवान पे विश्वास करे..............bilkul sahi kaha mitr............:))
      Tuesday at 2:17pm ·  ·  2 people
    • Aparna Khare thanks Dear...
      Tuesday at 3:35pm ·  ·  1 person
    • Naresh Matia भीष्म पितामह को देखे
      सच को जान कर भी
      स्वीकार नही कर पाते हैं
      अन्न जहा का खाते हैं
      हम वही का गाते हैं
      ............achcha likha...bahut khoob
      Tuesday at 5:00pm ·  ·  1 person
    • Asha Pandey Ojha Asha waah wah Aparana ji
      Tuesday at 5:58pm ·  ·  1 person
    • Aparna Khare shukriya Asha ji.....
      Tuesday at 5:59pm ·  ·  1 person
    • Aparna Khare Naresh ji thankuuu
      Tuesday at 5:59pm · 
    • Mutha Rakesh करे भरोसा प्रारब्ध पर

      भगवान के बन जाए हम

      करे जीवन को पक्षपात रहित

      मॅन मे शांति पाए हम...bahut achhi panktiyan
      Tuesday at 7:05pm ·  ·  1 person
    • Sonroopa Vishal good thoughts through good lines..............
      Tuesday at 10:00pm ·  ·  2 people
    • Aparna Khare thanks Mutha ji....
      Tuesday at 11:20pm · 
    • Aparna Khare thanks Sonroopa ji...
      Tuesday at 11:20pm · 
    • Meenu Kathuria sahi kaha Aparna ji...........अन्न जहाँ का ख़ाता हैं
      मनुष्य वही की गाता हैं.............kyoki manushya namak haram nahi hota........
      Yesterday at 12:29am ·  ·  2 people
    • Poonam Matia 
      namak ka haq ada karna hamaara karm mana jaata hai ......ham se ye aapkeshit hai ........ki jiska namak khaayein usi ke hokar rahein ......
      ab ye sab bhool jaate hain .ki ishwar vo sarvotam kriti hai .......jiska hone mei hi hame moksha mil ...See More
      Yesterday at 2:06am ·  ·  2 people
    • Alam Khursheed Waaaaaaaah Aparna Ji!
      Lagatar Sixer!
      Yesterday at 7:40am ·  ·  1 person
    • Uday Tripathi 
      भीष्म पितामह को देखे

      सच को जान कर भी

      स्वीकार नही कर पाते हैं
      ...See More
      16 hours ago ·  ·  1 person
    • Aparna Khare thanks Uday ji
      16 hours ago ·  ·  1 person

0 Comments:

Post a Comment

Subscribe to Post Comments [Atom]

Links to this post:

Create a Link

<< Home