Monday, May 20, 2013

अगला जनम

जब माँ कर सकती हैं ठाकुर जी से संवाद
तो तुम भी कर सकते हो मुझसे सवाल
मेरे पास तुम्हारे हर प्रशण का उत्तर हैं..
अपनी सीमा रेखा भी जानती हूँ मैं..
तुम बस डटे रहना घबराना नही..
हमारा मिलन निश्चित हैं..
भले ही हमे अगला जनम क्यूँ ना लेना पड़े..
एक दूजे से मिलने को..


0 Comments:

Post a Comment

Subscribe to Post Comments [Atom]

Links to this post:

Create a Link

<< Home